अब ऑनलाइन मिलेगी कोविड बेड्स और आईसीयू की जानकारी

धर्मशाला, 04 जून

अब सभी नागरिक कांगड़ा जिला में कोविड अस्पतालों में बेड्स तथा आईसीयू की उपलब्धता के बारे में जानकारी आनलाइन हासिल कर सकते हैं। कांगड़ा  प्रदेश का ऐसा पहला जिला बन गया है जो कि नागरिकों को अस्पतालों में बेड्स की उपलब्धतता के साथ साथ चिकित्सीय परामर्श की आनलाइन सुविधा प्रदान करेगा। इस के लिए जिला प्रशासन द्वारा कांगड़ा केयर पोर्टल तैयार किया है। शुक्रवार को मिनी सचिवालय के विडियो कांफ्रेसिंग हॉल में उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कांगड़ा केयर पोर्टल की विधिवत लांचिंग भी की है। इस अवसर पर एडीएम रोहित ठाकुर भी उपस्थित थे। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि नागरिकों को समयबद्व बेहतर सुविधाएं और स्वास्थ्य संबंधी उपचार के लिए सही जानकारी मिल सके इस के लिए ही कांगड़ा जिला प्रशासन ने कांगड़ा केयर पोर्टल तैयार किया है। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने बताया कि प्रारंभिक तौर पर यह पोर्टल कोविड संक्रमितों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए तैयार किया गया है तथा भविष्य में इस पोर्टल को हेल्थ की बेहतर सर्विसज लोगों को उपलब्ध करवाने में उपयोग किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि पोर्टल में कोविड से संबंधित सरकारी तथा निजी अस्पतालों का पूरा डाटाबेस उपलब्ध रहेगा तथा नियमित तौर पर बेड्स, आईसीयू इत्यादि के बारे में भी अपडेट किया जाएगा। ताकि रोगियों के परिजनों को समय पर जानकारी हासिल हो सके।

उपायुक्त ने बताया कि पोर्टल में सुपर एडमिन मुख्य चिकित्सा अधिकारी सहित विशेषज्ञ चिकित्सक रहेंगे जो कि रोगियों के स्वास्थ्य मापदंडों के आधार पर उपचार संबंधी परामर्श देंगे तथा उसी के मुताबिक रोगियों को अस्पतालों में सुविधाएं प्रदान की जाएंगी। गंभीर स्थिति में रोगियों को समय पर उच्च स्वास्थ्य संस्थानों में रेफर करने के लिए भी सुपर एडमिन की टीम निर्णय लेगी तथा उसके अनुरूप व्यवस्थाएं की जाएंगी ताकि रोगियों को समयबद्व बेहतर चिकित्सा सुविधा मिल सके। उन्होंने बताया कि जिला में अभी तक विभिन्न स्तरों पर व्हाट्सऐप के माध्यम से ही जानकारियां शेयर हो रही थीं जिसमें कई चिकित्सक भी लोगों को स्वास्थ्य संबंधी परामर्श अपने अपने स्तर पर प्रदान कर रहे थे लेकिन अब कांगड़ा केयर पोर्टल के माध्यम से लोगों के लिए टेली काउंसलिंग का प्रावधान भी किया गया है। इसमें चिकित्सकों की सूची भी उपलब्ध करवाई गई है। उन्होंने बताया कि कोविड से गंभीर रूप संक्रमित मरीजों के ठीक होने के बाद भी उनके स्वास्थ्य की मॉनिटरिंग भी पोर्टल के माध्यम से सुनिश्चित करने का प्रावधान किया गया है। चिकित्सकों द्वारा पोस्ट कोविड के नागरिकों के साथ भी नियमित संवाद कायम किया जाएगा ताकि लोगों को किसी भी तरह की असुविधा नहीं हो। उन्होंने कहा कि पोर्टल कोविड से निपटने के साथ साथ भविष्य में लोगों को समयबद्व स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाने में भी कारगर साबित होगा।

Spread the love