प्रोत्साहन को तरसे आरबीएसके कर्मचारी, वन मंत्री राकेश पठानिया को सौंपा ज्ञापन


10 जून। नूरपुर
कोरोना काल मे निरन्तर सेवाएं देने वाले राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के कर्मचारी अपनी समस्यों को लेकर बीरवार को वन मंत्री राकेश पठानिया से मिले। अराजपत्रित कर्मचारी संघ के नूरपुर अध्यक्ष राजेश सहोत्रा की अगुवाई में आरबीएसके के कर्मचारियों ने राकेश पठानिया को ज्ञापन सौंपा। आरबीएसके संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ विशाल पठानिया ने बताया कि आरबीएसके के तहत आने वाले डॉक्टर्स से लेकर पैरामेडिकल स्टाफ कोरोना काल से निरन्तर अब तक अपनी सेवाएं दे रहे है। उन्होंने बताया कि फील्ड में टेस्टिंग से लेकर कोरोना मरीजों को आइसोलेट करने का काम आरबीएसके के कर्मचारियों द्वारा किया जा रहा है। विशाल पठानिया ने बताया कि कोरोना काल मे सरकार ने स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को तो प्रोत्साहित किया लेकिन आरबीएसके के कर्मचारियों को कुछ भी नही दिया। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों की तरह वह भी दिन रात कोरोना काल मे सेवाएं दे रहे हैं लेकिन सरकार ने केवल स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को प्रोत्साहन राशि का एलान किया जबकि उन्हें अनदेखा कर दिया गया। लिहाजा अपनी मांगों के संधर्भ में वन एवं खेल मंत्री राकेश पठानिया से मुलाकात की और उन्हें एक ज्ञापन सौंपा। गौरतलब है कि आरबीएसके के तहत आने वाले कर्मचारी स्कूलों में बच्चों का चेकअप करते हैं। अगर किसी बच्चे में बीमारी के लक्षण सामने आते हैं तो उसका इलाज भी इन्ही कर्मचारियों के माध्यम से किया जाता है। लेकिन कोरोना काल मे स्कूल बंद होने की वजह से इन कर्मचारियों को कोविड ड्यूटी में लगाया गया है। वहीं इस मामले में वन मंत्री राकेश पठानिया ने कहा कि आरबीएसके के कर्मचारियों की मांग को वो सरकार के समक्ष रखेंगे और जल्द इनकी समस्या का समाधान किया जाएगा। 

Spread the love