बरसात में भी जवाली के लोग प्यासे, जलशक्ति विभाग के कार्यालय में किया प्रदर्शन


17 जून। जवाली
जवाली उपमंडल की ग्राम पंचायत ढन के बाशिंदों ने पेयजल समस्या से हताश होकर गुरुवार को जल शक्ति विभाग जवाली के कार्यालय में पहुंचकर पंचायत प्रधान बीना देवी व महिला मंडल प्रधान कमलेश कुमारी के नेतृत्व में रोष प्रदर्शन किया। विभागीय कार्यालय में पहुंचे ग्रामीणों ने विभागीय अधिकारियों के साथ काफी गहमा-गहमी हुई। ग्रामीणों ने कहा कि पंचायत के वार्ड नं एक, दो व 6 के लोग पिछले 9 दिनों से पेयजल की बूंद-बूंद को तरस रहे हैं। तीन वार्डों में करीबन 1100 आबादी है जोकि चिलचिलाती गर्मी में पानी को तरस रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि विभागीय सुस्त कार्यप्रणाली के कारण जनता को पेयजल की समस्या हुई है।
गुस्साए ग्रामीणों ने कहा कि न तो पीने को पानी मिल रहा है और न ही नहाने व पशुओं को पिलाने के लिए पानी नसीब हो रहा है। ग्रामीणों ने कहा कि हर बार गर्मियों में ढन ट्यूबवेल की मोटर खराब हो जाती है। उन्होंने कहा कि घरों में लगाए गए निजी नल शोपीस बनकर रह गए हैं। विभाग पानी का बिल तो भेज देता है लेकिन पानी देना भूल जाता है। उन्होंने कहा कि हमें टैंकों से पानी दिया जाए तथा ट्यूबवेल को दूसरे ट्यूबवेल से जोड़कर पानी की सप्लाई दी जाए। जनता ने चेताया कि अगर तीन दिन के भीतर समस्या का समाधान नहीं हुआ तो विभागीय कार्यालय के बाहर धरना दिया जाएगा। इस मौके पर मुलख राज, प्रदीप कुमार, हरदीप कौर, बलदेव राज, जोगिंदर सिंह, साहिल धीमान सहित काफी संख्या में लोगों ने भाग लिया।

क्या कहते हैं एक्सईएन नीरज भोगल:
एक्सईएन नीरज भोगल ने कहा कि ट्यूबवेल की मोटर बीच में गिर गई है जिसको निकालने में टीम लगी है। उन्होंने कहा कि जब तक मोटर बाहर नहीं निकलती तब तक टैंकों से लोगों को पानी की सप्लाई पहुंचाई जाएगी। उन्होंने कहा कि जल्द ही समस्या को हल कर दिया जाएगा।

Spread the love