प्रदेश को खेलों में बनाया जाएगा उत्कृष्टता का केंद्र: राकेश पठानिया


नूरपुर। 20 सितंबर
प्रदेश की छुपी हुई खेल प्रतिभाओं को निखारने तथा उन्हें अंतरराष्ट्रीय पहचान दिलाने के लिए प्रदेश को खेलों में उत्कृष्टता का केंद्र बनाने के लिए प्रदेश सरकार विशेष ध्यान देगी। यह बात वन, युवा कार्य एवम खेल मंत्री राकेश पठानिया ने आज सोमवार को मलकवाल (नूरपुर ) से केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर द्वारा राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों के खेल मंत्रियों के साथ आयोजित वर्चुअल बैठक में भाग लेते हुए कही। उन्होंने कहा कि विंटर ओलिंपिक में प्रदेश के खिलाड़ियों की भागीदारी बढ़ाने के लिए धर्मशाला, मनाली तथा शिमला में ऑल वेदर आइस स्केटिंग रिंक का निर्माण किया जाना प्रस्तावित है। पठानिया ने कहा कि “खेलों इंडिया” कार्यक्रम के तहत प्रदेश सरकार द्वारा 22 परियोजनाएं मंजूरी के लिए केंद्र सरकार को भेजी गई हैं, जिनमें से चार परियोजनाओं की स्वीकृति मिल चुकी है। उन्होंने कहा कि इन सभी परियोजनाओं की स्वीकृति मिलने पर तेजी से कार्य शुरू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कांगड़ा ज़िला में हाई एल्टीट्यूड ट्रेनिंग सेन्टर की स्थापना प्रस्तावित है जिसके निर्माण कार्य के लिए केंद्र सरकार का सहयोग लिया जाएगा। उन्होंने केंद्रीय खेल मंत्री का इस वर्चुअल बैठक के आयोजन के लिए धन्यवाद व्यक्त किया। केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि यह बैठक आगामी ओलिंपिक खेलों में भाग लेने वाले खिलाडियों एवं खेल गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए आयोजित की जा रही है। उन्होंने  कहा कि आगामी ओलिंपिक में भाग लेने के लिए “वन स्टेट, वन स्पोर्ट” योजना पर कार्य को प्राथमिकता दी जाएगी ताकि खिलाड़ी अधिक से अधिक मेडल जीत सकें। उन्होंने कहा कि इस कार्य को अमलीजामा पहनाने में केंद्र के साथ-साथ राज्यों की भी विशेष भूमिका रहेगी।
    

Please follow and like us: