भाजपा की जीत तय, फतेहपुर जीतेंगे जयराम ठाकुर को मजबूत बनाएंगे : कश्यप


15 अक्तूबर। फतेहपुर
फतेहपुर, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने फतेहपुर में बैठक में भाग लेते हुए कहा की यह हम सबके लिए दुर्भाग्यपूर्ण है कि कांग्रेस के नेता कारगिल युद्ध को युद्ध नहीं मानते , हम कांग्रेस से पूछना चाहते है कि वह कौनसे युद्ध को युद्ध मानते है।
क्या हमारे हिमाचल के 52 सैनिक कारगिल युद्ध मे शहीद नही हुए। हिमाचल आने वीरों की शहादत को भूलेगा नही।
उन्होंने कहा कि केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार ने भारत को सुदृण बनाने में अहम भूमिका निभाई है आज से पूर्व कांग्रेस राज में भारत को एक कमज़ोर देश के रूप में।देखा जाता था पर आज पूरे विश्व मे भारत को एक मज़बूत देश के रूप में देखा जाता हैं ।
जिस प्रकार से मोदी सरकार ने कोविड संकटकाल में देश की जनता का ख्याल रखा है उसकी चर्चा पूरे विश्व मे हो रही है, भारत मे विश्व का सबसे बड़ा टिकाकरण अभियान चल रहे है और देश के गरीबों के लिए अनेको योजनाएं बनाई गई है।
उन्होंने कहा कि इस बार भाजपा ने बलदेव ठाकुर को मैदान में उतारा है और बलदेव ठाकुर को जीता कर फतेहपुर को विकास की अविरल गंगा से मिला है। फतेहपुर में कमल खिलेगा, यह तय है।
हिमाचल सरकार में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के नेतृव में अभूतपूर्व विकास किया है, कोविड संकटकाल में भी विकास कार्य हिमाचल में रुके नहीं।
उन्होंने कहा कि वर्तमान हिमाचल सरकार ने महिला सशक्तिकरण की दिशा में ऐतिहासिक कदम उठाए हैं। सरकार ने महिलाओं को रोजगार उपलब्ध करवाने हेतु खंड स्तर पर हिम ईरा साप्ताहिक बाजार की शुरूआत की है। राज्य के प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में स्वयं सहायता समूह द्वारा हिम ईरा दुकान संचालित की जा रही है। प्रदेश के मुख्य डाकघरों में महिला शक्ति केंद्र के रूप में विक्रय केंद्र स्थापित किए गए हैं। डिजिटल भारत अभियान के तहत ग्रामीण स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं को निशुल्क कम्प्यूटर शिक्षा प्रदान की जा रही है। माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के वोकल फॉर लोकल के लक्ष्य को साकार करते हुए ग्रामीण महिलाओं को राखी बनाने संबंधी प्रशिक्षण दिया जा रहा है। स्वदेशी राखी बिक्री से महिलाओं को लगभग बाइस लाख (22,00000/-) रुपये की आमदनी भी हुई है। इसके अतिरिक्त प्रदेश में छह कस्टम हायरिंग केंद्रों की शुरूआत की गई है, जहां से ग्रामीण किराये पर कृषि उपकरणों का प्रयोग कर सकेंगे। वर्ष 2020-21 में छब्बीस नए कस्टम हायरिंग केंद्र खोलने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

Please follow and like us: